सेंधा नमक के नुकसान – Side Effects of Rock Salt in Hindi

हालांकि, सेंधा नमक के कई फायदे हैं, लेकिन लंबे समय तक खाने में पूरी तरह से सिर्फ सेंधा नमक का इस्तेमाल करने से सेंधा नमक के नुकसान भी हो सकते हैं। जो इस तरह से हो सकते हैंः

सामान्य सफेद नमक के मुकाबले सेंधा नमक में आयरन (आयोडीन) की मात्रा सबसे कम होती है। इसलिए, अगर लंबे समय तक सिर्फ सेंधा नमक का ही इस्तेमाल किया जाए, तो इससे शरीर में आयोडीन की कमी हो सकती है, जो घेंघा रोग का भी कारण बन सकती है (13)।
सेंधा नमक की अधिक मात्रा ब्लड प्रेशर के लेवल को हाई कर सकता है (1)।
ऐसे लोग जिन्हें एडिमा की समस्या है, उन्हें भी सेंधा नमक का इस्तेमाल सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही करनी चाहिए। सेंधा नमक की अधिक मात्रा सूजन का कारण बन सकती है (1)।

सेंधा नमक के अधिक इस्तेमाल से वॉटर रिटेंशन की भी समस्या हो सकती है (1)।
इस आर्टिकल में हमने सेंधा नमक के फायदे और नुकसान दोनों ही बताएं हैं। अगर सेंधा के फायदे पाने के साथ-साथ सेंधा नमक के नुकसान से बचाव करना है, तो इसकी मात्रा का उचित सेवन करना चाहिए। आप अपने स्वास्थ्य स्थिति और जरूरत के अनुसार ही इसकी मात्रा का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने डॉक्टर या डायटिशियन की भी उचित सलाह ले सकते हैं। स्वास्थ्य से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी के लिए आप हमारे अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं।

आगे हम सेंधा नमक से जुड़े पाठकों के सवाल और उनके जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल
सेंधा नमक में क्या पाया जाता है?

सेंधा नमक में प्राकृतिक तौर पर कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम व कॉपर जैसे लगभग 90 से अधिक मिनरल्स पाए जाते हैं (1)।

सेंधा नमक की तासीर क्या है?

सेंधा नमक की तासीर ठंडी होती है। यह शरीर को ठंडा बनाए रख सकता है, लेकिन यह स्वाद में खारा होता है (1)।

क्या सेंधा नमक खाना सुरक्षित है?

जी हां, सेंधा नमक का खाने में इस्तेमाल करना पूरी तरह से सुरक्षित माना जा सकता है। सेंधा नमक के नुकसान भी कम ही माने गए हैं। इसके दुष्प्रभावों के बारे में लेख में ऊपर बताया गया है। बस इसकी सही मात्रा का ध्यान रखें (1)।

क्या सेंधा नमक का इस्तेमाल किडनी पेशेंट के लिए करना चाहिए?

हां, विभिन्न शोधों के मुताबिक क्रोनिक किडनी डिजीज पेशेंट्स सामान्य नमक यानी टेबल साल्ट की जगह पर सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उनके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इस संबंध में एनसीबीआई की साइट पर रिसर्च पेपर उपलब्ध है (14)।

क्या सेंधा नमक में पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है?

हां, साधारण नमक के मुकाबले सेंधा नमक में पोटैशियम की अधिक मात्रा होती है। इसे किडनी से ग्रस्त मरीज के लिए सबसे अच्छा स्रोत माना जा सकता है (14)।

सम्बन्धित खवर

ताजा समाचार

लोकप्रिय